अखिलेश यादव ने नरेश अग्रवाल पर BJP को दी ऐसी नसीहत, पत्रकार रुबिका लियाक़त के एक कमेंट से हो गयी बोलती बंद !

कल यानि सोमवार को समाजवादी पार्टी (एसपी) के राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल ने पार्टी छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया। दिल्ली में बीजेपी हेडक्वॉर्टर पहुंचकर नरेश ने बीजेपी की औपचारिक रूप से सदस्यता ग्रहण की। हाल ही में राज्यसभा के लिए जया बच्चन को तरजीह दिए जाने से नरेश पार्टी से नाराज चल रहे थे। उन्हें अपने लिए टिकट कंफर्म होने का भरोसा था लेकिन वैसा हुआ नहीं।

बता दें कि एसपी ने अग्रवाल के दावे को दरकिनार करते हुए उत्तर प्रदेश से जया बच्चन को राज्यसभा का उम्मीदवार बनाया था। जिससे नरेश अग्रवाल को काफी बड़ा झटका लगा था. यूपी में एसपी के 47 विधायक हैं और वह केवल एक उम्मीदवार को राज्यसभा में भेजने की स्थिति में है। दिल्ली में बीजेपी मुख्यालय में नरेश अग्रवाल ने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और प्रवक्ता संबित पात्रा की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

कल तक सामजवादी पार्टी में थे तो अखिलेश यादव ने बुरे से बुरे बयान पर जुबान नहीं खोली। अब एक दिन में अखिलेश ने भाजपा को टारगेट कर दिया , अखिलेश ने ट्वीट कर कहा की – श्रीमती जया बच्चन जी पर की गयी अभद्र टिप्पणी के लिए हम भाजपा के श्री नरेश अग्रवाल के बयान की कड़ी निंदा करते है. ये फिल्म जगत के साथ ही भारत की हर महिला का भी अपमान है. भाजपा अगर सच में नारी का सम्मान करती है तो तत्काल उनके ख़िलाफ कदम उठाये. महिला आयोग को भी कार्रवाई करनी चाहिए.

अखिलेश यादव ने इस मुद्दे ऑयर राजनीतिक रोटियां सेंकनी चाही । नरेश अग्रवाल को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा और महिलाओं को लेकर बीजेपी को नीचा दिखाने की कोशिश की। जबकि कल से पहले तक नरेश अग्रवाल ने ना जाने क्या क्या गलत बयान दिए है तब भी अखिलेश ने एक शब्द नही कहा लेकिन आज राजनीति के लिए इस तरह दोहरा चरित्र दिखाने लगे । अखिलेश के इस बयान पर हालांकि कई यूज़र ने मुंहतोड़ जवाब दिया लेकिन पत्रकार रुबिका लियाक़त ने एक ही कॉमेंट में सपा पार्टी की धज्जियाँ उड़ा दी।

रुबिका लियाक़त ने मुंहतोड़ जवाब देते हुवे कहा कि – अखिलेश जी, भारत की हर महिला में क्या जया प्रदा नहीं आती? बीजेपी किसी क़ीमत पर नरेश अग्रवाल के सवाल पर नहीं बच सकती लेकिन सपा अगर सच में नारी का सम्मान करती है तो तत्काल आज़म खान के ख़िलाफ कदम उठाये. महिला आयोग को भी कार्रवाई करनी चाहिए।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*